Pyar kaise hota hai

Pyar कैसे होता है।(pyar kaise hota hai). प्यार क्या है और हम इसे कैसे महसूस कर सकते हैं। दोस्तों इस आर्टिकल में हम देखेंगे कि प्यार कैसे होता है और सच्चा प्यार क्या होता है।

Pyar kya hai: 


प्यार बस एक अगाध स्नेह का नाम है, जिसके भी जीवन में आये उसे महका दे। ऐसा नहीं है की शारीरिक प्यार में कोई कमी रहती है या गलत होता है , सिर्फ अस्थायी होता है ।

 फिर भी प्यार चाहे क्षणिक हो हमेशा सच्चा ही रहता है । अगर सच्चा नहीं है तो फिर सिर्फ दिखावा है ।सिर्फ लेन-देन का सौदा है जिसमे सुविधाओं का , साधनो का आदान प्रदान हो ।

Pyar kaise hota hai


प्यार कैसे होता है (pyar kaise hota hai)?


दरअसल दोस्तों प्यार किया नहीं जाता या प्यार करने का कोई तरीका नहीं होता है प्यार आपका किसी के प्रति लगाव होता है जैसे कि राम का सीता के प्रतिभा राधा का श्री कृष्ण के प्रति था और मीरा का कृष्ण के प्रति था।

प्यार जैसे शब्द को हम कुछ चुनिंदा वाक्यों में स्पष्ट नहीं कर सकते और नहीं यह बता सकते कि यह कैसे होता है।

फिर भी हम यहां कोशिश करेंगे कि आपको कुछ सटीक से जानकारी हम दे पाए कि प्यार कैसे होता है।

Pyar kese hota h

Kya मैं प्यार में हूं?


जब आपको लगे कि आपके साथी के शारीरिक सुख के बिना उससे किसी चीज की आशा के बगैर आप उसके साथ अपना पूरा जीवन व्यतीत कर सकते हैं तो समझ जाइए कि आप प्यार में हैं।

पर यदि आप अपने साथी से सिर्फ शारीरिक संबंध रखना चाहते हैं तो यकीन मानिए आप उससे बिल्कुल भी प्यार नहीं करते हैं।

अगर आप जानना चाहते हैं कि आपका partner आपसे प्यार करता है कि नहीं तो उसे शारीरिक सुख के अलावा अपनी भूमिका व्यक्त करवाइए।

सिर्फ आपके लिए: Love Shayari Hindi

Pyar kaise hota h


क्या प्यार में शारीरिक संबंध जरूरी है(kya pyar me physical relationship honi chahiye)?


बिल्कुल नहीं दोस्तों, अगर आप किसी से सच्चा प्यार करते हैं तो आपके दिमाग में उसके प्रति शारीरिक संबंध जैसी किसी चीज का ख्याल भी नहीं आएगा ।
यकीन मानिए जिस दिन आपको उससे सच्चा प्यार होगा आप किसी भी लड़की / लड़के के प्रति शारीरिक संबंध के बारे में नहीं सोचेंगे।

प्यार क्या है


सच्चे प्यार के कुछ उदाहरण क्या है ( some examples of true love)?


दोस्तों मैं यकीन से कह सकता हूं कि आपको आपके जीवन में किसी ना किसी से सच्चा प्यार जरूर हुआ होगा ऐसा प्यार जिसमें आपने उसके प्रति कभी भी शारीरिक सुख की आशा नहीं की होगी तो कुछ उदाहरण नहीं दी जा सकती क्योंकि हर एक मनुष्य अपने जीवन में एक बार सच्चा प्यार जरूर करता है।

लेकिन फिर भी मैं आपको कुछ उदाहरण देकर यह स्पष्ट करना चाहूंगा।

भगवान राम और मां सीता की जोड़ी के बारे में तो हम सभी जानते हैं। जब भगवान राम ने मां सीता को राज्य से बाहर किया तो उन्होंने उनसे कभी कोई शिकायत नहीं की बल्कि उनके आदेश का पालन करते हुए अपने प्यार का एक सच्चा उदाहरण उनके सामने रखा।

अपने पति परमेश्वर की बात मानते हुए उन्होंने वनवास जाना मंजूर किया और ना चाहते हुए भी भगवान राम ने उन्हें अपने से दूर किया, और फिर पूरा जीवन उनकी याद में बिताया। क्या इससे सच्चा प्यार कुछ हो सकता है।

मीरा का प्यार तो और भी अदभुत था न शरीर की चाह, न मिलन की आस , न ही किसी सुख की लालसा। बस सब कुछ छोड़ कर निकल पड़ी, ऐसे प्रियतम को खोजने के लिए जिसकी उन्होंने सिर्फ किवदंतियां ही सुनी थी , मूर्ति और किताबो में ही जो मिलता है।


सिर्फ आपके लिए: Marriage anniversary gifts for love

दोस्तों प्यार पर आपके क्या विचार हैं नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें बताएं और अपने दोस्तों के साथ इसे जरूर शेयर करें

4 comments:

  1. nice lines, shi khu to sachha pyar aaj kl koi nahi karta....sabko bus ek hi cheej chahiye

    ReplyDelete
  2. bahut khoob. jo samajh le wo paar ho jaata hai. is baare me mere vichar bhi padiye. jo samajh le wo paar ho jaata hai.-
    https://seepiya.wordpress.com/2013/05/01/प्रेमराग

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks 😊 fot your valuable feedback Indira

      Delete

पसंद आया तो शेयर करो कुछ कहने की इच्छा हो तो कमेंट करो और हां लाइक तो बनता है ना भाई

Powered by Blogger.